शुक्रवार, 25 मार्च 2011

पाखी जियो हजारों साल...जन्मदिन पर यही पैगाम !!


पाखी लगती सबसे प्यारी.
सबकी है वो राजदुलारी.
आज उसका जन्मदिन आया.
यह देख है मन हर्षाया।

पाखी जियो हजारों साल.
मस्ती करो और धमाल.
यूँ ही खूब कमाओ नाम.
जन्मदिन पर यही पैगाम।

ब्लॉग-परी अक्षिता(पाखी) के पाँचवें जन्मदिन पर हम सबकी शुभकामनायें और प्यार.

एस. आर. भारती
मैनेजर- नेशनल स्पीड पोस्ट सेंटर, कानपुर-208001

7 टिप्‍पणियां:

रत्नेश कुमार मौर्य ने कहा…

पाखी जियो हजारों साल.
मस्ती करो और धमाल.
यूँ ही खूब कमाओ नाम.
जन्मदिन पर यही पैगाम।
...बेहतरीन गीत...बधाई.

रत्नेश कुमार मौर्य ने कहा…

पाखी को जन्मदिन की असीम बधाइयाँ.

चैतन्य शर्मा ने कहा…

हैप्पी बर्थ डे पाखी.....

Patali-The-Village ने कहा…

पाखी को जन्मदिन की असीम बधाइयाँ|

Akshita (Pakhi) ने कहा…

मेरे जन्मदिन पर आप सभी की शुभकामनाओं और प्यार के लिए बहुत सारा प्यार और आभार !!

Shahroz ने कहा…

हम भी कानपुर के हैं, सो यह कविता भी प्यारी...बधाई.

Shahroz ने कहा…

अब तो मान गए पाखी कि यूँ ही आपको बेस्ट बेबी ब्लागर का अवार्ड नहीं मिला है. आपके जन्मदिन पर कवितायेँ, कार्टून...अभी से सेलिब्रेटी हो गई हो. ..मुबारकवाद !